MENU X
रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान


रणथम्भोर राजस्थान का बहुत बड़ा राष्ट्रीय उद्यान है । यह वन्यजीव अभ्यारण 392 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है । ये दक्षिण पूर्वी राजस्थान जो जयपुर से 130 किलोमीटर दूर सवाई माधोपुर जिले में स्थित है । यह राष्ट्रीय उद्यान सूंदर गुलाबी नगर जयपुर के महाराजाओ के शिकारगाह के रूप में था । रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है । राष्ट्रीय उद्यान में विभिन्न जंगली जानवरों, सियार, चीते, हाइना, दलदल मगरमच्छ, जंगली सुअरों और हिरण की विभिन्न किस्में है । इसके आलावा वह जलीय वनस्पति जीव भी है। यह इतनी आकर्षक जगह है जहाँ पर कई फोटोग्राफर और वन्यजीव प्रेमी आते है और अच्छे फोटो खींचते है ।

ranthambhore

Main Entrance – Ranthambore National Park

Image Source – Live India

इतिहास:

यह राष्ट्रीय उद्यान बड़े बाघों के लिए जाना जाता है यहाँ पर बड़े बाघ ज्यादा पाए जाते है । यहाँ पर पर्यटकों को कई तरह के जगली जानवरों को देखने का मौका मिलता है । ये जगह अपने 'टाइगर रिजर्व' के लिए प्रसिद्ध है और रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान, एक बहुप्रसिद्ध पर्यटन स्थल के लिए दुनिया भर में जाना जाता है। यह उद्यान अरावली रेंज और विंध्य पठार के बीच में स्थित है, जो की सवाई माधोपुर से 14 किलोमीटर की दूरी पर है। रणथम्भोर के पास में एक गांव है गांव के लोग जंगली जानवरों का शिकार करते थे । भारत सरकार ने इस उद्यान के लिए 60 स्क्वायर माइल्स जगह आवंटित की थी । ताकि जंगली जानवरों की सुरक्षा की जा सके ।

जंगली जानवर :

राष्ट्रीय उद्यान  कई जानवरों और पक्षियों की विभिन्न किस्मों के लिए एक प्राकृतिक निवास स्थान के रूप में प्रसिद्ध है । यहाँ पर पर्यटकों को तेंदुए, जंगली सुअरों, आलसी भालू, धारीदार हाइना, सांभर हिरण, चीतल, नीलगाय, आम या हनुमान लंगूर, मकाक, सियार, जंगली बिल्ली, भारतीय जंगली सूअर, चिंकारा, आम पाम कस्तूरी बिलाव या ताड़ी बिल्ली,पीला चमगादड़, डेजर्ट बिल्ली भारतीय झूठी पिशाच, भारतीय फ्लाइंग लोमड़ियों, भारतीय लोमड़ी, भारतीय गोर्बिलाव, भारतीय तिल चूहों, भारतीय पोरकपिन्स, कांटेदार जंगली चूहा, रेंटल  छोटे भारतीय नेवला, छोटे भारतीय कस्तूरी बिलाव और आम नेवला और कई अन्य जंगली जानवरों को देखने का मौका मिल सकता है।

ranthambhore

Tigers at Ranthambore National Park

Image Source – Ranthambore National Park Official Website

यह उद्यान  दैनिक बाघ और जंगली बिल्लियों के लिए बहुत प्रसिद्ध है। उद्यान में उभयचर आबादी के  केवल  विषदार मेंढक और आम मेंढक पाए जाते है ।  इस पर्यटन स्थल में मौजूद चपटी नाक मार्श मगरमच्छ, डेजर्ट मॉनिटर छिपकली, कछुआ, धारीदार करैत, कोबरा, करैत, गंगा शीतल खोलीदार कछुए, भारतीय अजगर, उत्तर भारतीय फ्लैप खोलीदार कछुए, धामिन, रसेल के वाइपर, भारतीय गिरगिट आदि देखे जा सकते है ।

पक्षी:

यहाँ पर विभिन्न प्रकार के जल निकायों और धने जंगल के कारण बहुत सारे अदभुत आबादी के पक्षी देखने को मिलते है । कई पक्षी बाहर से आते है और कई पक्षी यहाँ के भी है । इस उद्यान में पक्षियों की दो सौ बाइस प्रजातिया निवास करती है । रणथंभौर में कई झीलें है पदम तलाव, सुरवाल लेक और मलिक तलाव, पदम तलाव राष्ट्रीय पार्क के अंदर सबसे बड़ी झील है और उसके किनारे पर स्थित है जोगी महल, जो की एक प्राचीन गेस्ट हाउस है।

birds

Birds at National Park Ranthambore

Image Source – Live India

रणथंभौर में कुछ महत्वपूर्ण पक्षी, गरलग हंस, आम किंगफिशर, मधुमक्खी भक्षण, कुक्कू, कठफोड़वा, भारतीय ग्रे होरंबिल्स, तोता, एशियाई पाम स्विफ्ट, उल्लू, नाइट्जर्स, गुल, टर्न, ग्रेट कलगी ग्रेब, ईगल्स, कबूतर, कबूतर, क्रेक्स शामिलचाहा पक्षी, टिटिहरी, डार्टर, जलकाग, अग्रेस्ट्स , स्टॉर्क, पित्तस , शरीक , त्रिपिेस , कौवे, बगुलों, बीटर्स, राजहंस, पक्षी, पेलिकन, ओरिओल्स, कोयल-कसाई , मिनिवेट्स, ड्रोंगो, फलयकतचेरस, लोरस, फिन्चेस, वगतैलस मुनिास , बुलबुल, मैना , लकड़ी  पिपिट, बायस , गौरैयों, फाल्कस् आदि पाए जाते है ।

वनस्पति:

flora

रणथम्भोर  के जंगलों में ज्यादा तर सुखी वनसप्ति पाई जाती है । जैसे : इमली, बाबुल, बरगद, बेर, पलाश, धोक, जामुन, कदम, खजूर, खैर, कैरेल,खेजड़ा, स्पेसगेरा,  ककेरा, महुआ,   नीम इस प्रकार के पेड़ रणथम्भोर के जंगलों में पाए जाते है  

घूमने के स्थान:

रणथंभौर राष्ट्रीय  उद्यान  दुनिया में वन्यजीव फोटोग्राफी के लिए सबसे उपयुक्त और सुंदर जगह के रूप में माना जाता है। राष्ट्रीय उद्यान में आप हिरणो, बाघों के साथ फोटो खींच सकते है ।  रणथंभौर पार्क के अलावा, वहाँ जोगी महल (अद्भुत वन डाक बंगले), और रणथंभौर किला (राजस्थान के पूरे राज्य में अपनी तरह का एक)  हैं।

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान के आसपास महत्वपूर्ण स्थानों में से कुछ हैं: बकौल, कचिदा घाटी,लकरदा और अनंतपुरा, राज बाग खंडहर, पदम तालाब, रणथंभौर किला, राज बाग तालाब, और मलिक तलाव।

सफारी:

उद्यान में जाने का समय मौसम पर निर्भर करता है सुबह जल्दी का समय होता है और शाम का समय होता है ।

सफारी समय सारणी

क्र.सं.     

महीना

सुबह यात्रा

शाम यात्रा

1

1st अक्टूबर तक 31st अक्टूबर

7.00 A.M. to 10.30 A.M.

2.30 P.M. to 6.00 P.M.

2

1st नवंबर तक 31st जनवरी

7.00 A.M. to 10.30 A.M.

2.00 P.M. to 5.30 P.M.

3

1st फरवरी तक 31st मार्च

6.30 A.M. to 10.00 A.M.

2.30 P.M. to 6.00 P.M.

4

1st अप्रैल तक 15th मई

6.00 A.M. to 9.30 A.M.

3.00 P.M. to 6.30 P.M.

5

15th मई तक 30th जून

6.00 A.M. to 9.30 A.M.

3.30 P.M. to 7.00 P.M.

रणथम्भोर  के जंगलों में ज्यादा तर सुखी वनसप्ति पाई जाती है । जैसे : इमली, बाबुल, बरगद, बेर, पलाश, धोक, जामुन, कदम, खजूर, खैर, कैरेल,खेजड़ा, स्पेसगेरा,  ककेरा, महुआ,   नीम इस प्रकार के पेड़ रणथम्भोर के जंगलों में पाए जाते है  

घूमने के स्थान:

रणथंभौर राष्ट्रीय  उद्यान  दुनिया में वन्यजीव फोटोग्राफी के लिए सबसे उपयुक्त और सुंदर जगह के रूप में माना जाता है। राष्ट्रीय उद्यान में आप हिरणो, बाघों के साथ फोटो खींच सकते है ।  रणथंभौर पार्क के अलावा, वहाँ जोगी महल (अद्भुत वन डाक बंगले), और रणथंभौर किला (राजस्थान के पूरे राज्य में अपनी तरह का एक)  हैं।

 रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान के आसपास महत्वपूर्ण स्थानों में से कुछ हैं: बकौल, कचिदा घाटी,लकरदा और अनंतपुरा, राज बाग खंडहर, पदम तालाब, रणथंभौर किला, राज बाग तालाब, और मलिक तलाव।

सफारी:

उद्यान में जाने का समय मौसम पर निर्भर करता है सुबह जल्दी का समय होता है और शाम का समय होता है ।

सफारी समय सारणी

क्र.सं. महीना सुबह यात्रा शाम यात्रा
1. 1 अक्टुम्बर से 31 अक्टूम्बर 7:00 से 10:30 तक 2:30 से 6:30 तक
2.  1 नवंबर से 31 जनवरी 7:00 से 10:30 तक 2:00 से 5:30 तक 
3.  1 फरवरी से 31 मार्च 3:0 से  10.00 तक 2.30 से  6.00  तक
4. 1 अप्रैल से 15 मई तक 00 से  9.30 तक  3.00 से  6.30 तक
5. 15 मई से  30 जून तक 00 से  9.30 तक 3.30 से  7.00 तक

पहुँचने के लिए कैसे करें

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान भारत के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है  राष्ट्रीय पार्क तक पहुंचने के लिए सबसे आसान और सरल तरीका सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन से है  जो जयपुर, मुंबई, दिल्ली और शहरों से जोड़ता है  और अगर आप हवा के माध्यम से यात्रा में सुविधाजनक हैं, तो जयपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है, जो अच्छी तरह से भारत के मेट्रो शहरों के साथ जुड़ा हुआ है।

एयरपोर्ट से

टैक्सी के माध्यम से

हवाई अड्डे से दूरी 156.6 किलोमीटर दूर है।टैक्सी हवाई अड्डे से रणथम्भोर नेशनल पार्क 3 घंटे मे पहुचा देगीएक तरफ का चार्ज लगभग  ऑटो से रु। 2000 - 4000।सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन से

टैक्सी के माध्यम से

चोमू रेलवे स्टेशन से दूरी 13.7 किलोमीटर है।टैक्सी ले जायगी 25-30 मिनट में रणथंभौर नेशनल पार्क के लिए एक तरफ का चार्ज लगभग  ऑटो से रु 200-400परिवहन के माध्यम से सार्वजनिक सार्वजनिक परिवहन (बसों और टैक्सियों) सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन से उपलब्ध है।पार्किंग सूचनाउपलब्ध

पार्किंग (सड़क की और इनडोर)चार्जेज: नि: शुल्क (रोड साइड)

संपर्क सूचना - Ranthamborenationalpark.com 

प्रधान कार्यालय

Our My India – 81 CSector – 8 , Noidaभारत – 201301

Tel : + 91- 120 - 4052615 - 99 ( 85 hunting lines are available ) 
Fax : - + 91 - 120 – 4052699 ( 24 hrs helpline )

Mobile No: 91 - 9212777223 / 9212777225 / 8744012050 
Email : info@ranthamborenationalpark.com                                                                                                 

 

Save


You May Also Like

Jaipur artist Suvigya Sharma's 4 dimensional gold painting has made it to the Asia Book of Record and the India Book of Record.

Missile Technology Control Regime and its members have agreed to incorporate India as a country in their partnership.

“Every portrait that is painted with feeling is a portrait of the artist, not of the person whose portrait has been painted.”

Yes, to ensure better security of the tourists visiting the Nahargarh fort, the hottest tourist destination of pink city, CCTV’s are going to be installed soon

City Palace in Jaipur is the locale for the National Classical Performing Arts Festival this year.