MENU X


गुलाबी शहर में समृद्धिशाली उद्योग है यहां पर बुनाई, कढाई, सिलाई आदि सारे काम होते है जयपुर में हस्तनिर्मित कालीन और कारपेट भी बनाई जाती है। यहां पर बनी खूबसूरत कालीन को थोक और खुदरा मूल्य में बेचा जाता है। ये यहां का बहुत ही लोकप्रिय हस्तनिर्मित उत्पाद है। जयपुर कालीन जयपुर शहर के मूल पारंपरिक और सांस्कृतिक विरासत का प्रतिध्वनित है।

जयपुर में सबसे प्रमुख हाथ से बने आसनों को दुनियॉ भर के लोग लेते है क्योकि ये बहुत सूंदर बनाये जाते है। जयपुर में सबसे प्रमुख हाथ से बने आसनों को दुनियॉ भर के लोग लेते है क्योकि ये बहुत सूंदर बनाये जाते है। जयपुर भी हस्तनिर्मित कालीनों श्रेणी में एक नेता के रूप में दुनिया भर में जाना जाता है।

इन वर्षों में, जयपुर कालीन दुनिया भर के 40 से अधिक देशों में, डिजाइन की जाती है इस सम्रद्ध विरासत ने जो हमे मिली है दुनिया भर में हमारी सम्रद्धि का विकास किया है। जयपुर इस उधोग का मुख्यालय है जयपुर में आसनों का एक मजबूत बैच तैयार किया जाता है साथ ही भारत में भी इस उधोग को 20 क्षेत्रो में 6 राज्य और 600 गावों में यह काम किया जा रहा है  और इस काम को करने के लिए और इस काम को बढ़ावा देने के लिए 40,00 कारीगर लगे हुय्र है  इस उद्योग सच में अपनी ग्राहक मूल्यों और सामाजिक मानदंडों के साथ सराहनीय बनाने के लिए काम कर रहे है।

चलो कुछ लोकप्रिय जयपुर आसनों और कालीन निर्माताओं और शहर में खुदरा विक्रेताओं, जो अद्वितीय डिजाइन और आसनों की सबसे अच्छी गुणवत्ता प्रदान करने के लिए जाने जाते है इस प्रकार बताते है।

1. जयपुर कालीन कंपनी प्राइवेट लिमिटेड

2. आसनों और तकिए के निर्माण और निर्यातक

3. सरस्वती नेटवर्किंग प्राइवेट लिमिटेड

जयपुर कालीन और कालीनों में पाया विभिन्न किस्मों क्या हैं?

जयपुर में सबसे ज्यादा कालीन और कारपेट की किस्मो को आप देख सकते है -

1. हाथ की व्यापक डिजाइन पुष्प और डिजाइनर पैटर्न में अद्भुत पैटर्न के साथ कालीन और कालीनों का पेचीदा काम।

2. हथकरघा संग्रह भी स्थानीय लोगों के साथ ही पर्यटकों के बीच काफी मशहूर है।

3. हाथ के गुच्छेदार संग्रह सुंदर डिजाइन पैटर्न, स्टाइलिश बुनाई धागे का काम का एक अद्भुत मिश्रण है।

4. हस्तनिर्मित कालीने और दरियां

हस्तनिर्मित कालीन और दरिया

जयपुर में कालीन और दरिया बनाने का काम बहुत ही प्रतिष्टित और बहुत सारे वर्ग करते है जो हाथ से दरी और कालीन बनाते है। आसन दरी और कालीनों को इतनी खूबसूरती से तैयार किया जाता है की आप उनको देखते ही रहोगें कारीगर ग्राहकों को बताने के लिए हमेशा उत्साहित रहते है कि उन्होंने ये चीजे कितनी खूबसूरती से बनाई है।

जयपुर कालीन और आसनो की अलग-अलग भागो में बांटा है -

1. क्लासिक आसनों

2. फ्लैट बुनाई आसनों

3. आधुनिक स्टाइल आसनों

4. प्राकृतिक स्टाइल आसनों

5. खत्म रंगे आसनों

6. ठोस स्टाइल आसनों

7. संक्रमणकालीन स्टाइल आसनों

जयपुर में आसनो को कई अलग-अलग रगों से तैयार किया जाता है जैसे - भूरा, नीला, सोना, भूरे, काले, गुलाबी, बैंगनी और भी बहुत सारे रंगों का इस्तेमाल करके बनाया जाता है। इस आसनो को अलग-अलग आकार और अलग-अलग लम्बाई में बनाया जाता है ये आसन दरिया और कालीन बहुत अच्छे मेटेरियल से तैयार किये जाते है जो ग्राहकों को उचित मूल्य में बेचे जाते है ग्राहकों को इसे खरीद कर बहुत अच्छा अनुभव प्राप्त होता है।

जयपुर की कालीन और दरिया अलग-अलग आकर्षक डिजाइनों में है जो लोगो को अपनी और आकर्षित करती है और लोगो को देखने में बहुत ही अच्छी लगती है। कुछ बहुत ही जटिल डिजाइन होती है जो जयपुर के कारीगरों के द्वारा बनाई जाती है जो यहां पर कालीन और दरियो के टुकड़ो को बनाने के लिए मान्यता प्राप्त है यह बड़े पैमाने पर घरेलू और अंतरास्ट्रीय दोनों स्तरों पर बेचा जाता है।

लोग दुनिया भर से जयपुर घूमने के लिए विशेष रूप से इसलिए ही आते है कि जयपुर की मशहूर कालीन और दरियो को खरीद सके।  इसके अलावा, कई प्रदर्शनियों और मेलों को एक बड़े पैमाने पर इन कालीनों के प्रदर्शन करने के लिए आयोजित किया जाता है। ऐसी प्रदर्शनियों और मेलों में से अधिकांश काफी सफल व्यापार के कारोबार जयपुर कालीनों और कालीनों के लिए दुनिया भर की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए करते हैं।

 


You May Also Like

Jaipur gets its first lady police patrol unit to check crimes against women in Jaipur. Know all about this lady police patrol unit.

There had been an incident of the collapse of false ceiling in the hotel during the happening of a wedding ceremony some days back. In the event, 3 people passed away and 35 people were injured severely.

The crime data collected for 5 months of 2016 shows that Jaipur’s crime rate is on a speedy rise with a number of cases of murder, robbery, vehicle robbery, molestation, etc. being reported at different police stations in the city.

Summer vacations are most often thought of as times to relax around at the beach or riverside, to escape the heat on lazy summer afternoons,

There is no sure-shot way to success. No particular methodology or technique can work equally well for every individual.