MENU X
जयपुर हस्तशिल्प


जयपुर खरीदारी के लिए सर्वश्रेष्ठ गंतव्य है। यह शहर एक अद्भुत शहर है जहां पर शिल्प की प्राचीन कला देखने को मिलती है और यह दुनिया भर में मशहूर है हमें यह सोचकर बहुत गर्व होता है।  इस शहर का जीवंत और अद्भुत वाणिज्यिक हस्तशिल्प, बहुरंगी संस्कृति का एक केंद्र है यह कला विदेशो में भी भारत के प्रतिभाशाली कारीगरों और दस्तकारों को आकर्षित करती है। इन कारीगरों की प्रसिद्ध रचनात्मक संरचनाओं की कुछ शिल्प , धातु का काम, नीले रंग के मिट्टी के बर्तन, चमड़े के बर्तन और पत्थर की नक्काशी आदि शामिल है। इसके आलावा जयपुर में सुंदर वस्त्र, आभूषण स्टाइलिश और शानदार पेंटिंग, जो शाही और अद्भुत कलाकृतियों को प्रस्तुत करती है।

जयपुर में हस्तशिल्प उत्पादकों के बहुत ही विशिष्ट कारीगर है जो एक से बढ़कर एक शिल्प कला का काम करते है इसलिये जयपुर सही गंतव्य है खरीदारी करने के लिए।

कठपुतलिया

puppets

यहां पर हस्तशिल्प की बहुत सारी चीजे है जो लोगो और पर्यटको को पसंद आती है। कठपुतलियों को जयपुर में हाथ से बनाया जाता है और ये जंगल की लकड़ी से तैयार होती है और फिर इनको राजस्थानी कपड़े पहना दिए जाते है। लोग कठपुतलियो का नाच और उनके करिश्मे देखने के अलावा इनको अपने घरो में भी सजावट के लिए खरीदते है।

स्थिर उत्पादक

यहां पर हस्तशिल्प निर्मित स्टेशनरी जैसे सुंदर ढंग से निर्मित कलम, फ़ोल्डर, फ़ाइलें, इसके अलावा भी बहुत सारा समान होता है।  इस तरह के हस्तशिल्प स्टेशनरी आइटम केवल जयपुर में बनाये जाते है और दुनिया के कई क्षेत्रों में निर्यात किये जाते है।

गृह सजावट हस्तशिल्प

इसके अलावा हस्तनिर्मित घर को सजाने का समान  पर्दे , पेंटिंग, मूर्तियों, दीवार धारकों आदि चीजे भी हस्तशिल्प कला का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। जयपुर में घर की सजावट के आप अन्य आइटम भी खरीद सकते है इसके अलावा घर के कमरो को सजाने के लिए राजस्थानी संस्कृति को देख कर सजा सकते है। हस्तकला के अन्य अद्भुत चीजे खंड मास्क वास्तविक मिट्टी कीचड़ द्वारा बनाई गई हैं और इनको आश्चर्यजनक तरीके से रगा गया है। यह जयपुर के कुशल और अनुभवी कारीगरों के द्वारा तैयार हस्तशिल्प कला है।

handicraft

फूलदान

इस खूबसूरत शहर जयपुर में अलग-अलग आकृति के छोटे और बड़े फूलदान बर्तन के आकर के कलाकारों के द्वारा बनाये जाते है। जयपुर में फूलदान शिल्प कीचड़ द्वारा तैयार किया जाता है फिर इनको सूंदर रंग और सजावट के सामान से सजाया जाता है।

pot

मिट्टी का बर्तन

पर्यटको को भी रसोई के मिट्टी के बर्तन बहुत पसंद आते है वो भी इस तरह के मिट्टी के बर्तनों को खरीदना पसंद करते है। ये जयपुर में मिट्टी के बर्तन कीचड़ का उपयोग करके हाथो से कारीगरों के द्वारा तैयार किया जाता है।

सांगानेरी प्रिंट और बगरू पेंट्स

जयपुर के कंबल, चादर और कवर आमतौर पर सांगानेरी प्रिंट के और बगरू प्रिंट के होते है ये भी हस्तशिल्प का हिस्सा होते है इनके ऊपर प्रिंटिंग कारीगरों के हाथ से होती है यहां का प्रिंट दुनिया भर में अत्यधिक प्रसिद्ध है।

लाख की चूडियाँ

लाख की चूड़ियाँ भी हस्तशिल्प का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। जयपुर की लाख की चूड़ियों को दुनिया भर में पहना जाता है। लाख की चूड़ी का काम  त्रिपोलिया बाजार के क्षेत्र में अच्छी तरफ से किया जाता है यह जयपुर में मनिहारों की गली के करीब है।

जयपुर हस्तशिल्प के लिए प्रसिद्ध है

दुनिया भर के पर्यटको को  जयपुर का हस्तशिल्प का सामान आकर्षित करता है यहां पर सामान खरीदने के लिए बाजार जैसे एम आई रोड, आमेर रोड, जौहरी बाजार और बापू बाजार जाते है। 

puppets

 


You May Also Like

Sachin Tendulkar inaugurates the art show of Jaipur based artist Suvigya Sharma in Mumbai. Many celebrities also reached to visit the Art of The Royals exhibition.

A Palace on Wheels journey is one that remains with you long after the experience itself.

Due to take place in the month of November 2016 are the Asian Cycle Polo Championship and the 11th World Cycle Polo Championship.

Suvigya Sharma paintings are very much in demand these days. Recently, none other than Bollywood actor Sanjay Dutt purchased Jaipur based artist Suvigya Sharma's Ganpati painting at a Fund Raiser Art Exhibition in Mumbai on June 11.

In the last 3-4 years, more than 15 new tea restaurants have been developed in the city, which are gaining popularity among Jaipurites.