MENU X
व्यवसायी और महेश्वरी समाज के युवा कार्यकर्ता, मुकुंद हुरकट की हत्या के लिए कांवटिया सर्किल पर 3 घंटे जाम

व्यवसायी और महेश्वरी समाज के युवा कार्यकर्ता, मुकुंद हुरकट की हत्या कर दी गयी। हत्यारो को पकड़ने के लिए समाज के लोगो ने कांवटिया सर्किल पर 3 घंटे जाम किया।

मुकुंद हुरकट विद्याधर नगर में पैकेजिंग के व्यापारी थे और साथ ही साथ महेश्वरी समाज के युवा कार्यकर्ता भी थे। 45 साल के मुकुंद का शव शुक्रवार रात को करधनी में कनकपुरा रेलवे स्टेशन के पास ट्रैक पर मिला।

मुकुंद के घरवालों ने एक्सपोर्ट कंपनी के मैनेजर सहित 4 लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है।

मुकुंद हुरकट के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए महेश्वरी समाज के लोगो ने शनिवार रात को विद्याधर नगर था का घेराव किया। यही नहीं बल्कि, जब रविवार को पुलिस मुकुंद की लाश का पोस्टमार्टम करवाने के लिए, उसे कावंटिया अस्पताल लेकर पहुंची, तो समाज के लोगों ने अपना आक्रोश दिखते हुए, कावंटिया सर्किल पर रास्ता जाम कर प्रदर्शन भी किया।

मंत्री महोदय अरूण चतुर्वेदी जी और महापौर अशोक जी लाहोटी मौके पर पहुंचे और उन्होंने वहां मौजूद लोगो को समझाया व न्याय दिलाने का भरोसा दिया।

हत्या का कारण आपसी रंजिश या पैसो का लेनदेन होना बताया जा रहा है। लोगो का कहना है कि मुकुंद के साथ मारपीट कर उसे रेल्वे ट्रैक पर फेंका गया।

पुलिस बल और आला अधिकारी ने पहुँच कर स्तिथी को संभाला। पुलिस पर भी यह आरोप लगाया जा रहा है कि उन्होंने हत्यारो को पूछताछ कर, बाद में फरार करवा दिया।

 

 


You May Also Like

Jaipur city is moving towards cleanliness with measures like the door-to-door garbage collection services and keeping dustbins outside every shop.

Father’s Day is right around the corner – June 19. It is time to think about a very important person in your life – your Father. But, before you begin with any further plans for the day, discover some amusing Father’s Day facts here.

Jaipur has been one of the best cities to pursue Chartered Accountancy course being a hub of CA coaching institutes and one of the biggest chapters of the Central India Regional Council

They die due to lack of timely or necessary medical treatment. In the country, likewise child death rate, mother death rate is also highest of Rajasthan.

Museums are said as the managers of consciousness. They give us an interpretation of history and are said to be treasure of rich cultural heritage.