MENU X

गणगौर के त्यौहार को लेकर उत्साह चरम सीमा पर है। और क्यों ना हो? आखिर गणगौर जयपुर वासियों के सबसे पसंदीदा त्योहारों में से एक है। 15 दिन तक पूजन के बाद आज, 30 मार्च 2017 को जयपुर में गणगौर की सवारी निकाली जाएगी।

गणगौर की सवारी

प्रत्येक वर्ष की तरह ही सिटी पैलेस के जनानी ड्योढ़ी से रवाना होकर त्रिपोलिया गेट से लवाजमें के साथ गणगौर की सवारी निकलेगी। गणगौर की सवारी 30 और 31 मार्च, दोनों दिन शाम 6 बजे धूम-धाम से निकलेगी। जनानी ड्योढ़ी सिटी पैलेस से निकलकर, त्रिपोलिया बाजार, छोटी चौपड़, और गणगौरी बाजार होते हुए पोंड्रिक पार्क पहुँचेगी।

पर तालकटोरा माँ गौरा के लिए तैयार नहीं

माँ गौरा हर साल धूम-धाम से तालकटोरा पहुँचती है। यहाँ श्रद्धालु उन्हें घेवर का भोग लगाते हैं। और तब रस्म में तालकटोरे का ही पानी काम में लिया जाता है। लेकिन इस बार ऐसा लगता है कि जयपुर नगर निगम शायद यह भूल गया।

जयपुर के तालकटोरे की दशा इतनी ख़राब है कि मानो नगर निगम को एहसास ही ना हो कि माँ गौरा यहाँ पधारेंगी। इस वर्ष तालकटोरे की दशा देखते हुए नही लगता कि ऐसा किया जा सकेगा। देखिये तालकटोरे की दशा बयान करती हुई यह तस्वीर।

आइये इस तस्वीर को इतना फैलाए कि जयपुर नगर निगम ध्यान दे। #RaiseYourVoice

 


You May Also Like

Samir Shah shares the trend in startup ecosystem in the last 10-14 months which are necessary for every entrepreneur to know.

The Britishers ruled over India and had a long period of engagement with the country for a period of 200 years, 2 long centuries that is.

In the Talk Journalism Show - Vox Media Festival, a photography workshop was also methodized by Instagram India.

Jaipur’s young Maharaja Padmanabh Singh to turn 18 on July 12, 2016. The event calls for celebrations in the Palace. He will also be delegated the responsibilities of being the head of the royal family of Jaipur.

Vasundhara Raje led BJP government has completed half of its tenure in the state. During the elections, several promises were made to the public for the development of state. But if closely examine the past period of BJP Government,